fbpx

Notice: Trying to access array offset on value of type bool in /var/www/html/sshnahan/wp-content/themes/medicare/single.php on line 121

Notice: Trying to access array offset on value of type bool in /var/www/html/sshnahan/wp-content/themes/medicare/single.php on line 134

श्री साई मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेंटर में हुई कान के छेद की सफल सर्जरी

January 16, 2021
श्री साई मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेंटर, नाहन के नाक , कान एवं गला रोग विभाग में कान में छेद की सफल सर्जरी की गयी। डॉ अनूप कुमार रॉय , नाक , कान एवं गला रोग विशेषज्ञ द्वारा कान के पर्दे में छेद का, ऑपरेशन के माध्यम से सफल इलाज किया गया। डॉ अनूप कुमार रॉय ने बताया की इस केस में ३० वर्षीय युवक के कान से कम सुनाई देता था व् उसका कान निरंतर बहता रहता था। चेकअप के बाद पता चला की युवक के बांय कान के पर्दे में छेद होने के कारण ऐसा हो रहा है।
Dr. Anup Kumar Roy, ENT Specialist, Head & Neck Surgeon
डॉ अनूप कुमार रॉय ने बताया कान के पर्दे में छेद का मतलब व्यक्ति के कान के अंदर टिम्पेनिक मेम्ब्रेन का फटना होता है। टिम्पेनिक मेम्ब्रेन एक पतला टिशू होता है जो आपके मध्य कान व् भीतरी कान को विभाजित करता है। जब ध्वनि तरंगे आपके कान में प्रवेश करती है तब इस मेम्ब्रेन में कम्पन होती है जो हमें सुनने में मदद करती है। तो यदि कान में छेद होता है तो आपके सुनने की क्षमता पर प्रभाव पड़ता है।
 
इस केस में हमने युवक को सुन किया और बिना दर्द के टिम्पेनोप्लास्टी सर्जरी के माध्यम से इलाज किया। टिम्पेनोप्लास्टी सर्जरी में कान को बाहर से चीरा लगाकर खोला जाता है। जहाँ से ऑपरेशन के माध्यम से कान के पर्दे में हुए छेद को बंद किया जाता है।  उन्होंने ने कहाँ की नाक ,कान, गले से सम्बंधित रोगो के लिए श्री साई मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेंटर, नाहन में वो प्रत्येक शनिवार एवं रविवार को अपनी सेवाएं दे रहे है। नाक ,कान गले से सम्बंधित गंभीर रोगो का इलाज नाहन में ही उपलबध है। अब किसी भी गंभीर समस्या के लिए रोगी को नाहन से बाहर जाने की कोई आवशयकता नहीं है। श्री साई मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेंटर में हर गंभीर से गंभीर बीमारी का इलाज सफलता पूर्वक किया जा रहा है। अस्पताल में इ ० एस ० आई और हेल्थ केयर कार्ड पर पर इलाज किया जाता है।

Copyright by Shri Sai Hospital 2018. All Rights Reserved.